Ayushman Bharat Essay – आयुष्मान भारत योजना पर निबंध – Essay on Ayushman Bharat Yojana in Hindi & English Pdf Download

केंद्र सरकार ने देश के लोगों के लिए आयुष भारत योजना और मोडिकेयर योजना शुरू की है| इस योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार लगभग 10 करोड़ गरीब परिवारों और 50 करोड़ नागरिक को बीमा कवरेज प्रदान करेगी।आयुष भारत योजना एवं राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षण योजना के तहत, सरकार एसईसीसी बीपीएल सूची 2018 में दिखाई देने वाले सभी परिवारों के लिए प्रति वर्ष 5 लाख रुपये तक का नकद रहित उपचार प्रदान करेगी। आज के इस पोस्ट में हम आपको ayushman bharat essay 250 words, ayushman bharat essay pdf, ayushman bharat essay upsc, ayushman bharat essay for ssc cgl, ayushman bharat essay ias, ayushman bharat essay ssc, ayushman bharat essay in hindi , ayushman bharat essay english, आयुष्मान भारत योजना पर निबन्ध इन हिंदी, मराठी, इंग्लिश, पंजाबी, बांग्ला, गुजराती, तेलगु, तमिल आदि भाषा में जानकारी प्रदान करेंगे जो की छात्र अपने स्कूल के निबंध प्रतियोगिता, कार्यक्रम अथवा भाषण प्रतियोगिता में प्रयोग कर सकते है| ये निबंध हमने कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9 ,10, 11, 12 और कॉलेज के विद्यार्थियों के लिए प्रदान करें है|

Essay on Ayushman Bharat in Hindi

Short Essay on Ayushman Bharat Essay in Hindi 300 words, ayushman bharat health insurance, essay on ayushman bharat in hindi, essay on ayushman bharat yojana in english, essay on ayushman bharat in english 250 words, essay on ayushman bharat scheme in english, in hindi pdf, Ayushman Bharat Essay essay in hindi font हिंदी में 100 words, 150 words, 200 words, 400 words जिसे आप pdf download भी कर सकते हैं| अगर आप कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप आयुष्मान भारत योजना टोल फ्री नंबर इस्तेमाल कर सकते हैं| साथ ही आप जन धन योजना पर निबंध भी देख सकते हैं|

आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojana) या मोदीकेअर (Modicare) विश्व की सबसे बड़ी सरकारी वित्पोषित स्वास्थ्य बीमा योजना है | जिसकी घोषणा भारत सरकार की 1 फरवरी 2018 के आम बजट में की गई | जिसकी शुरुआत 14 अप्रैल 2018 को बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर की जयंती पर छतीसगढ़ के बीजापुर में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा देश की पहली हेल्थ सेंटर का शुभारम्भ की गई |

इस योजना की पहली चरण में देश के 10 करोड़ गरीब परिवारों को प्रतिवर्ष 1 से 5 लाख तक की स्वास्थ्य बीमा की जाएगी | बाद में इस योजना से देश की बाकि बची आबादी को जोड़ा जायेगा |

इस बड़ी योजना सुझाव नीति आयोग ने दी थी | नीति आयोग ने देश में ‘यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज’ द्वारा देश के 25 करोड़ परिवारों तक स्वास्थय बीमा सुविधा देने का सुझाव दिया था | लेकिन उसमें अधिक खर्च होने के कारण आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत की गई |

इस योजना के दो भाग है :-
1. राष्ट्रीय स्वास्थ सुरक्षा योजना :- इसमें द्वितीयक और तृतीयक श्रेणी के अस्पतालों में भर्ती रोगियों को 1 से 5 लाख तक बीमा लाभ मिलेगा | जिससे 50 करोड़ लोगों को लाभ मिलेगा |

जबकि वर्तमान राष्ट्रीय स्वास्थ बीमा योजना के तहत गरीब परिवारों मात्र 30 हजार रूपए का सालाना कवरेज मिलता है | राज्यों के पास इस योजना अपनाने के लिए ट्रस्ट मॉडल या बीमा कंपनी आधारित मॉडल अपनाने का विकल्प होगा | लेकिन ट्रस्ट मॉडल को प्राथमिकता दी जाएगी | इस योजना के लिए 2 हजार करोड़ रूपए इस वर्ष आवंटित किया गया है |

2. हेल्थ एवं वैलनेस सेंटर :- इसके तहत पूरे देश में 1.5 लाख हेल्थ एवं वैलनेस सेंटर खोले जायेंगे | इन केन्द्रों पर आवश्यक दवाईयां और जाँच सुविधा मुफ्त में प्रदान की जाएगी | इसके अलावा यहाँ पर मातृ- शिशु देखभाल एवम् गैर-संक्रामक बीमारियों की भी देखभाल होगी | इस योजना के लिए 1200 करोड़ रूपए आवंटित किया गया है |

इस योजना की लाभार्थियों की पहचान ‘सामाजिक आर्थिक जाती जनगणना 2011’ के आधार पर होगी | इस योजना के तहत अनुशंसित रकम को लाभार्थियों तक पहुँचाने के लिए कैशलेश मॉडल अपनाया जायेगा |

Essay on Ayushman Bharat in 250 Words

अब हम आपको ayushman bharat challenges, ayushman bharat yojana, essay on ayushman bharat in 250 words, essay on ayushman bharat yojana in hindi, ayushman bharat upsc, essay on ayushman bharat for upsc, essay on ayushman bharat programme, essay on ayushman bharat in hindi in 250 words, essay on ayushman bharat scheme in hindi, आदि की जानकारी देंगे| आयुष्मान भारत योजना रजिस्ट्रेशन फार्म के तहत ऑनलाइन अप्लाई  करने वाले लाभार्थी अपना नाम आयुष्मान भारत योजना लिस्ट में चेक कर सकते हैं|

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इस साल पेश किए गए बजट में इस योजना घोषणा की थी। योजना का खर्च केंद्र और राज्य मिलकर उठाएंगे। आयुष्मान भारत योजना के तहत प्रत्येक परिवार को प्रतिवर्ष इलाज के लिए 5 लाख रुपए तक का बीमा कवर मिलेगा।

Ayushman Bharat Yojana Narendra Modi इस योजना के तहत देश के करीब 50 करोड़ लोगों को फायदा मिलेगा। नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महत्वाकांक्षी आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojna) लॉन्च कर दी है। भीमराव अंबेडकर के जन्मदिन के मौके पर नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने ये योजना छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले में लॉन्च की। इस योजना के तहत देश के करीब 50 करोड़ लोगों को 5 लाख रुपए का हेल्थ इंश्योरेंस (Health Insurance) मिलेगा। यहां पर पहले चरण की आयुष्मान भारत योजना लॉन्च की गई है। मोदी ने कहा कि देश में 1.5 लाख गांव में हेल्थ और वेलनेस सेंटर खुलेंगे। यहां सिर्फ बीमारी का इलाज ही नही होगा बल्कि यहां पर हेल्थ चेकअप की सुविधा भी मिलेगी।वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इस साल पेश किए गए बजट में इस योजना घोषणा की थी। योजना का खर्च केंद्र और राज्य मिलकर उठाएंगे। आयुष्मान भारत योजना के तहत प्रत्येक परिवार को प्रतिवर्ष इलाज के लिए 5 लाख रुपए तक का बीमा कवर मिलेगा। इस योजना से देश के 10 करोड़ परिवारों और 50 करोड़ लोगों को फायदा होने की संभावना है। यह योजना राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना और सीनियर सिटीजन इंश्योरेंस स्कीम का स्थान लेगी।

Essay on Ayushman Bharat in English

आयुष्मान भारत योजना पर निबंध

 

Mr. Arun Jaitely, the Union Minister for Finance and Corporate Affairs introduced Ayushman Bharat Programme on February 1, 2018 while presenting the General Budget 2018-19 in Parliament. The main aim of the programme is to provide health security and promotion to the people of India.
The Government is going to open1.5 lakh health centres that will provide all types of health care facilites, along with free medicines and drugs to people. Rs.1200 crore have been allocated for this programme. Healthcare institutes in the private sector may also be looped in this programme.

The National Health Protection Scheme will cover as many as 10 crore poor families and provide financial health security upto 5 lakh rupees per family per year for all types of health care issues. This will be the world’s largest government funded health care scheme.

It is believed these two health care programmes will help in building a New India 2022; and ensure improved productivity, and wellbeing. These Schemes will also generate employment, particularly for women. In conclusion it can be said, that this programme will promote health and ensure health security for the poor people of India. Only healthy people will make a healthy India; and only healthy India will be a developed and advanced India.

Ayushman Bharat Essay 300 Words

Ayushaman Bharat is the National health protection scheme. This is the scheme which will mostly helpful for poor people because this scheme should cover the 10 crore poor people.

From this scheme the poor people should get the 5 Lakh Rupees in 1 Year. This is the scheme which is based on the 2 schemes which are  Rashtriya Swasthya Bima Yojana & Senior Citizen Health Insurance Scheme

This scheme will allowed to take cashless benefits from any public/private Hospitals. payments for treatment will be done on package rate.

In this scheme their is mainly investment Of the country and state government. This scheme will proved the 10.74 crore poor people.

This scheme will mainly depends on the government and this scheme will made the 1.5 Lakh national health services centre. and this scheme will mainly target in the Health.

And in the year 2022 this scheme will be completed and this scheme will provide the all health treatments for free.

Ayushman Bharat Essay in Hindi pdf

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इस साल पेश किए गए बजट में इस योजना घोषणा की थी। योजना का खर्च केंद्र और राज्य मिलकर उठाएंगे। आयुष्मान भारत योजना के तहत प्रत्येक परिवार को प्रतिवर्ष इलाज के लिए 5 लाख रुपए तक का बीमा कवर मिलेगा।

Ayushman Bharat Yojana Narendra Modi इस योजना के तहत देश के करीब 50 करोड़ लोगों को फायदा मिलेगा। नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महत्वाकांक्षी आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojna) लॉन्च कर दी है। भीमराव अंबेडकर के जन्मदिन के मौके पर नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने ये योजना छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले में लॉन्च की। इस योजना के तहत देश के करीब 50 करोड़ लोगों को 5 लाख रुपए का हेल्थ इंश्योरेंस (Health Insurance) मिलेगा। यहां पर पहले चरण की आयुष्मान भारत योजना लॉन्च की गई है। मोदी ने कहा कि देश में 1.5 लाख गांव में हेल्थ और वेलनेस सेंटर खुलेंगे। यहां सिर्फ बीमारी का इलाज ही नही होगा बल्कि यहां पर हेल्थ चेकअप की सुविधा भी मिलेगी।वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इस साल पेश किए गए बजट में इस योजना घोषणा की थी। योजना का खर्च केंद्र और राज्य मिलकर उठाएंगे। आयुष्मान भारत योजना के तहत प्रत्येक परिवार को प्रतिवर्ष इलाज के लिए 5 लाख रुपए तक का बीमा कवर मिलेगा। इस योजना से देश के 10 करोड़ परिवारों और 50 करोड़ लोगों को फायदा होने की संभावना है। यह योजना राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना और सीनियर सिटीजन इंश्योरेंस स्कीम का स्थान लेगी।
इनके तहत अभी 30 हजार रुपए का वार्षिक कवरेज प्रदान किया जाता है। इस योजना लागू करवाने का जिम्मा राज्यों का होगा। ये राज्यों पर निर्भर करेगा कि वे इसे लागू करना चाहते हैं या नहीं। एक अप्रैल, 2018 से सरकार के पास इसके लिए 2000 करोड़ रुपए उपलब्ध होंगे। बीमा कवर के लिए उम्र की भी बाध्यता नहीं रहेगी।इसमें पहले से मौजूद बीमारियां भी कवर होंगी। ये स्कीम कैशलेस होगी और इसमे परिवार के सदस्यों और उम्र का बंधन नहीं होगा। योजना में रजिस्टर्ड किसी भी प्राइवेट या सरकारी अस्पताल में इलाज हो सकेगा। पिछले 10 साल में मेडिकल का खर्च 300 फीसदी बढ़ गया है। देश में मेडिकल का 80 फीसदी खर्च लोग अपनी जेब से उठाते हैं। इस खर्च का बोझ आम आदमी पर न पड़े इसलिए मोदी सरकार ने आयुष्मान भारत योजना बनाई है।5 लाख वाली हेल्थ इंश्योरेंस स्कीम मोदी केयर की हर वो बात जो आप जानना चाहते हैंप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस मौके पर कहा कि तीन महीने का हमारा अनुभव कहता है कि अगर जिले के सभी लोग, जिले का प्रशासन, जिले के जन प्रतिनिधि, हर गली-मोहल्ला,गांव, इस अभियान में साथ आ जाए। मोदी ने कहा कि एक जनआंदोलन की तरह हम सब इसमें योगदान करें, तो वो काम हो सकता है, जो पिछले 70 वर्षों में नहीं हुआ।उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत योजना के पहले चरण को शुरू किया गया है जिसमें प्राथमिक स्वास्थ्य से जुड़े विषयों में बड़े बदलाव लाने का प्रयास किया जाएगा। देश की हर बड़ी पंचायत में, लगभग डेढ़ लाख जगहों पर सब सेंटर और प्राइमरी हेल्थ सेंटर्स को हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर के रूप में विकसित किया जाएगा

आयुष्मान भारत योजना निबंध

केंद्र सरकार ने वित्त वर्ष 2018-19 के आम बजट में ‘आयुष्मान भारत योजना’ शुरू करने की घोषणा की है। इस योजना के तहत सभी को स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करायी जाएंगी। इस महत्वाकांक्षी राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षण योजना के तहत प्रति वर्ष 10 करोड़ गरीब परिवार को उन्नत इलाज के लिए 5-5 लाख रुपये तक का स्वास्थ्य बीमा कवर उपलब्ध कराया जाएगा। सरकार ने फिलहाल इस योजना के लिए 2000 करोड़ रुपये का आवंटन करने की बात कही है। इस योजना ने गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों के लिए 2008 में पेश राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा की जगह ली है जिसमें 30,000 रुपये का सालाना बीमा कवर दिया गया था।

इस योजना को ‘मोदीकेयर’ का नाम भी दिया जा रहा है। अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने वर्ष 2010 में करीब ढाई करोड़ अमेरिकी परिवारों के लिए स्वास्थ्य बीमा योजना शुरू की थी लेकिन मोदी सरकार ने जिस आयुष्मान योजना का एलान किया है उसका फायदा 10 करोड़ परिवारों यानी देश की करीब 40 फीसदी आबादी को मिलने वाला है। हालांकि अभी बड़ा सवाल यह बना हुआ है कि सरकार इस योजना पर खर्च होने वाली भारी भरकम राशि का प्रबंध कैसे करेगी? लेकिन सरकार की योजना है कि शिक्षा और स्वास्थ्य के 1 फीसदी बढ़े हुए सेस से आने वाला पैसा इस योजना में लगाया जायेगा। इस 1 फीसदी सेस से सरकार को करीब 11000 करोड़ रुपये मिलने का अनुमान है।

देखने में तो यह योजना ग्रामीण भारत के लिए फायदे का सौदा है लेकिन इसकी सफलता इस पर निर्भर करती है कि इसका क्रियान्वयन किस तरह होता है? इस योजना के वृहद स्वरूप को देखते हुए यह भी मांग उठ रही है कि इसमें बीमा कंपनियां विदेशी नहीं हों। आइए डालते हैं एक नजर इस योजना के विभिन्न पहुलओं पर-

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इस योजना के बारे में बताते हुए कहा है कि यह योजना ट्रस्ट मॉडल या इंश्योरेंस मॉडल पर काम करेगी और पूरी तरह कैशलेस होगी। उन्होंने उन आशंकाओं को खारिज कर दिया जिसमें कहा जा रहा था कि पहले गरीब को इलाज के लिए भुगतान करना होगा फिर उसके बाद वह इलाज पर खर्च हुई राशि प्राप्त करने के लिए क्लेम कर सकेगा। वित्त मंत्री ने साफ किया है कि रीईंबर्स प्रक्रिया में गड़बड़ी होने की संभावनाओं को देखते हुए यह योजना पूरी तरह कैशलेस होगी। इसका मतलब यह है कि जो भी आयुष्मान योजना के तहत बीमित व्यक्ति है उसे अपने इलाज का खर्च नहीं देना होगा। पांच लाख रुपए तक का खर्च उसे सरकार की तरफ से आसानी से मिल जायेगा।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!